Questions & Answers - September 04, 2017

Anupam: गुरुजी प्रणाम।आज आपने कई मंत्रो का अर्थ स्पष्ट किया।बहुत ज्ञान वर्धन किया आपने।ईश्वर आपको सदैव स्वस्थ रखें।गुरुजी आज आप गणेश शब्द का अर्थ स्पष्ट कर रहे थे व आठ चक्रो का ज्ञान दे रहे थे।गणेश का अर्थ बताते हुए आपने उसका संबंध बोध चक्र से बताया व कहा हम अक्सर गाते है गौरी पुत्र गणेश।गुरुजी बोध चक्र से गणेश का संबंध व गौरी पुत्र का कृपया अर्थ स्पष्ट करें।गुरुजी हरिश्चन्द्र की कथा का उल्लेख किस ग्रंथ में है।गुरुजी हम बच्चो को उपनिषदों की कहानियां सुनाना चाहे तो वह कहानियां किन ग्रंथो या किताबो से देखे।
Swami Ramswarup: Blessings beti. Dhanyawad Beti. Beti bodh chakra koi chakra nahi hota. Baki, yeh yog vidya ka gyan hai, jub yahaan aaogee tub prashan karna, yeh personally bataye jaate hain. Upnishad swayam rishiyon ki rachnayein hain, isliye dharmik pustakon ki dukanon se aap upnishad khareedein aur bachchon ko sunayein.

Anupam: गुरुजी प्रणाम। गुरुजी क्या किसी का एकादशी के दिन दुनिया से जाना अच्छा माना जाता है।ऐसा मानने का उल्लेख वेदों में है या पुराणों में।गुरुजी किसी के शरीर छोङे जाने के बाद हिन्दू व्यवस्था में 13 दिन तक कई बातें होती है जैसे लड़को का बाल कटवाना, उठावनी,खाने में कुछ विशेष बनना,13वे दिन त्रयोदशी संस्कार होना,इन सब का उल्लेख वेदों में है या पुराणों में है।गुरुजी वेदों में इन13 दिनों में क्या किये जाने का उल्लेख है।
Swami Ramswarup: Blessings beti. Achchha jaana ya bura jaana achchhey bure karmon ke phal par nirbhar hai. Din, samay, tyohaar ya somvaar aadi se iska koi concern nahi hai. In sabka ulekh vedon mein nahi hai.

In terah din mein pratidin ved mantron se Yajyen karne ko kaha hai.

Vishal: Namaskaar guruji. What is the proper and the appropriate way of meditation and what are it's benefits?
Swami Ramswarup: Namaste ji. Ashtang Yog Vidya is mentioned in vedas and it is taught to an aspirant by a learned Acharya in presence. So you are please advised to make contact with local learned Acharya of four vedas and Ashtang Yog Vidya to learn the same because I’m away and can’t teach you, from here.